बिहार के प्रमुख झीलें – Major lakes of Bihar

बिहार के प्रमुख झीलें – Major lakes of Bihar

 

मैदानी क्षेत्रों में मंद ढ़ाल होने के कारण नदियों का वेग अत्यंत मंद हो जाता है जिसके कारण नदियाँ अपने साथ बहकर लाये गए अवसादों का परिवहन में असमर्थ होती है । फलस्वरूप नदियों के विसर्पण के कारण झीलों का निर्माण होता है। बिहार के उत्तरी मैदानों में गंगा,बूढ़ी गण्डक, कोसी तथा महानंदा आदि नदियों के विसर्पण के कारण अनेक झीलों का निर्माण हुआ है। इन झीलों को स्थानीय भाषा मे ताल,चौर या मन आदि नामों से जाना जाता है । इन झीलों का प्रयोग मछली पालन , सिंचाई,पक्षी विहार,बाढ़ नियंत्रण तथा पर्यटन के लिए किया जाता है । बिहार के कुछ प्रमुख झील निम्नलिखित है ।




काँवर झील (Kanwar Lake)

काँवर झील एशिया की सबसे बड़ी गोखुर झील (Oxbow Lake) है। इसका निर्माण बूढ़ी गण्डक नदी के विसर्पण के कारण हुआ है । लांवार झील बेगूसराय जिले के मंझौल गांव में स्थित है। यह झील जल निमग्न वनस्पतियों (submerged flora) के लिए विश्व प्रसिद्ध है। जिसमे लेरिसिलाटा, हाइड्रा,पोटोमोगेंटन, वेलस्नेरिया, लेप्लरोल्स, निफँसा, मिम्फोलोड्स तथा सरपस वेटलवेरिया आदि प्रमुख है।

काँवर झील में शीत ऋतु में साइबेरिया के प्रवासी पक्षी आते है जिसके कारण इसे संरक्षित क्षेत्र (Reserve Area) घोषित किया गया है और यहां शोध कार्य हेतु एक बर्ड बैंडिंग स्टेशन (Bird Banding Station) की स्थापना की गई है।

कुशेश्वरस्थान झील (Kesheshwarsthan Lake)

दरभंगा के कुशेश्वरस्थान प्रखंड में यह झील स्थित है। इस झील का क्षेत्रफल शरद ऋतु में 20 वर्ग किलोमीटर एवं वर्षा ऋतु में 100 वर्ग किलोमीटर तक हो जाता है। जैव विविधता का यह झील एक दुर्लभ उदाहरण है । साथ ही साथ यह एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल भी है। इस क्षेत्र में मत्स्य पालन और व्यापार भी किया जाता है । यह प्रवासी पक्षियों का प्रवास स्थल भी है।

गोगाबिल झील(Gogabil Lake)

गोगाबिल झील कटिहार जिले के मनिहारी में स्थित है। इस झील को घोघा चाप या घोघा झील भी कहते हैं इस झील का क्षेत्रफल लगभग 5 वर्ग किलोमीटर है मानसूनी वर्षा के साथ साथ इस झील को महानंदा नदी से भी जल प्राप्त होता है।

जगतपुर झील (Jagatpur Lake)

लगभग 400 हेक्टेयर में फैला यह झील भागलपुर जिले में स्थित है। यह झील गर्मी के मौसम में सूख कर 50 हेक्टेयर तक रह जाता है। वर्तमान में स्थानीय समुदाय एवं सरकार की सहायता से इसको पर्यटन स्थल के रूप में भी विकसित किया जा रहा है। यहां पर देशी और विदेशी प्रजातियों के पक्षियों का भी संरक्षण किया जा रहा है।




सिमरी बख्तियारपुर झील (Simri Bakhtiyarpur Lake)

सिमरी बख्तियारपुर झील का निर्माण जमुनिया,सरदिया ,कुमिबी तथा गोबरा आदि झिलों के मिलने से हुआ है, जो सहरसा से 25 किलोमीटर की दूरी पर सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड में स्थित है। इसकी आकृति घोड़े की नाल की तरह है। इस झील के दक्षिण पश्चिम में कावर झील तथा उत्तर पश्चिम में कुशेश्वरस्थान झील स्थित है ।

Read More

 

बिहार के प्रमुख झीलें

स्थान 
1

काँवर झील (Kanwar Lake)

बेगूसराय
2

कुशेश्वरस्थान झील (Kesheshwarsthan Lake)

दरभंगा
3

गोगाबिल झील(Gogabil Lake)

कटिहार
4

जगतपुर झील (Jagatpur Lake)

भागलपुर
5

सिमरी बख्तियारपुर झील (Simri Bakhtiyarpur Lake)

सहरसा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.