जानिए पोस्ट ग्रेजुएशन के बारे में सब कुछ – Know All About Post Graduation

 विद्यार्थी ग्रेजुएशन करने के बाद में पोस्ट ग्रेजुएशन नहीं करते है,इसका प्रमुख कारण उनको पोस्ट ग्रेजुएशन के महत्व के बारे में नहीं पता होता है। लेकिन आज के समय मे अब पोस्ट ग्रेजुएशन करना भी बहुत जरूरी होता है, क्योंकि मार्केट में पढ़ाई को लेकर अब बहुत कंपटीशन बढ़ गया है , इसीलिए हायर एजुकेशन वाले विद्यार्थियों को आगे बढ़ने में बहुत सहूलियत सी मिल जाती है। पोस्ट ग्रेजुएशन हायर एजुकेशन में आता है ,जो कि हाई लेवल की नौकरी होती है, उनमें पोस्ट ग्रेजुएशन(Post Graduation) की मांग बहुत हो रही है इसीलिए उन नौकरियो के लिए उन्हीं विद्यार्थियों का चयन किया जाता है, जिन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशन किया हुआ हो। आज हम इस आर्टिकल के द्वारा पोस्ट ग्रेजुएशन प्रोग्राम के बारे में विस्तार से जानकारी देने जा रहे हैं, पोस्ट ग्रेजुएशन किस तरह किया जाता है, किन किन विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं, भारत के प्रमुख पोस्ट ग्रेजुएशन वाले कॉलेज, पोस्ट ग्रेजुएशन प्रोग्राम 2021 आदि की जानकारी…

पोस्ट ग्रेजुएशन क्या होता है

जो भी विद्यार्थी पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाहते हैं, तो इसके लिए जो छात्र आर्ट स्ट्रीम से है वो M.A करते हैं, कॉमर्स स्ट्रीम वाले विद्यार्थी m.com करते है, उसी प्रकार से साइंस स्ट्रीम वाले विद्यार्थी m.sc करते हैं। इन सब कोर्स पोस्ट ग्रेजुएशन में ही शामिल किया जाता हैं। सरल शब्दों में कहें तो पोस्ट ग्रेजुएशन का मतलब किसी एक विषय में मास्टर की पढ़ाई करना होता है।

पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री मास्टर की पढ़ाई से ली जाती है। इस डिग्री को बैचलर डिग्री अर्थात ग्रेजुएशन करने के बाद में कि जाने वाली डिग्री कहा जाता है,जो भी ग्रेजुएट विद्यार्थी हैं और वह पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए एडमिशन लेना चाहते हैं, तो उनको किसी एक विषय का चुनाव पहले करना होगा। उसके बाद अपने Post Graduation में विद्यार्थी मास्टर डिग्री को प्राप्त कर सकते हैं । पोस्ट ग्रेजुएशन की अवधि 2 साल की होती है।

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए योग्यता

पोस्ट ग्रेजुएशन को करने से पहले आपको ग्रेजुएशन की बैचलर डिग्री को प्राप्त करना होगा। इसके बाद आप जिस एक विषय में Post Graduation करना चाहते हैं, उसको आप को चुनना होगा ,फिर इसके बाद आपको पोस्ट ग्रेजुएशन  कॉलेज में एडमिशन लेना होगा। इस प्रकार पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं । लेकिन अब 12वीं के बाद भी सीधे 5 साल का इंटीग्रेटेड कोर्स भी आप कर सकते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएशन कैसे करे

  • पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने ग्रेजुएशन 50% अंक के साथ पास करना होगा।
  • उसके बाद आप किस विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन करना चाहता है, उसका आपको चयन करना होगा।
  • फिर सही कॉलेज का चयन करना होगा।
  • कॉलेज में एडमिशन लेने के बाद में आपको उस विषय में अच्छी पढ़ाई करके अपना Post Graduation करना होगा। उसके बाद ही आप पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद कैरियर के विकल्प

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद में विद्यार्थियों को बहुत सारे कैरियर के विकल्प विद्यार्थियों के द्वारा चुने जाते हैं जिनमें से कुछ प्रमुख है : –

  • बैंकिंग सेक्टर में  : – आप आपने फाइनेंस और अकाउंट में अपनी ग्रेजुएशन को पूरा किया है, तो इसके लिए आप बैंकिंग सेक्टर में अपना कैरियर बना सकते हैं। बैंक में लोन मैनेजर ,ऑपरेशन मैनेजर, कैश ब्रांच ऑफिसर ,सेलर एंड मार्केटिंग मैनेजर जैसे बहुत सारे पद बैंकिंग सेक्टर में होते हैं। यहां पर जो Post Graduation उम्मीदवार हैं उन्हीं को ही इन पद के लिए नियुक्ति मिलती है।
  • आईटी इंडस्ट्री : – आज हमारे देश में टेक्नोलॉजी की डिमांड दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है । आईटी फील्ड में भी बहुत सारे कैरियर के विकल्प आपके सामने आते हैं, अगर आपने कंप्यूटर टेक्नोलॉजी फील्ड में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है ,तो आपको आईटी सेक्टर में कैरियर का अच्छा विकल्प मिल जाता है। IT इंडस्ट्री में पीपल मैनेजर, सॉफ्टवेयर देवलोपेर, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, प्रोजेक्ट मैनेजर जैसे vacancy पर आप जॉब कर सकते हो।
  • सेल्स एंड मार्केटिंग:- इसके बाद आपने फाइनेंस एंड अकाउंटेंसी या फिर एमबीए में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है तो आप मार्केटिंग में भी अपना कैरियर बना सकते हैं, क्योंकि हर बड़ी कंपनी सेल मार्केटिंग के लिए  एग्जीक्यूटिव हायर करती है। और इसकी डिमांड आज मार्केट में बहुत अधिक देखने को मिलती है।
  • डिजिटल मार्केटिंग : – आज के समय में डिजिटल मार्केटिंग के लिए भी बहुत स्कोप है क्योंकि आज आर्ट फील्ड में भी डिजिटल मार्केटिंग ऑनलाइन हो गयी है इसीलिए मार्केट में ज्यादा डिजिटल मार्केटर्स की भी जरूरत पड़ती जा रही है। इसलिए आप टेक्नोलॉजी में Post Graduation करके, डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स से, किसी भी अच्छी कंपनी में अच्छे डिजिटल मार्केटर के पद पर काम कर सकते हैं।
  •  सरकारी नोकरी : – सरकारी नौकरी आज के समय में कौन करना नहीं चाहेगा। पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद में जो भी छात्र होते हैं वह सरकारी नौकरी के लिए जब वैकेंसी निकलती है तो उसके लिए वह आवेदन करते हैं।अगर आपने Post Graduation किया है और सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं तो इसके लिए आप सरकारी नौकरी के लिए जब सरकार के द्वारा आवेदन नौकरी के लिए निकाले जाते हैं उनको आपको पास करके आप सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

स्नातक और स्नातकोत्तर में क्या अंतर है

ग्रेजुएशन एक बैचलर डिग्री है पोस्ट ग्रेजुएशन एक मास्टर डिग्री है।

ग्रेजुएशन के लिए 12th पास होना आवश्यक होता है, जबकि Postgraduate के लिए 12th और ग्रेजुएशन करना दोनों ही अनिवार्य है।

पोस्ट ग्रेजुएशन कौन-कौन किस तरह से कर सकता है

पोस्ट ग्रेजुएशन वह हर व्यक्ति कर सकता है जिसने अपना ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लिया हो। यानी आप ने बीए, बीकॉम , बीएससी अगर कर लिया है तो आप इसके बाद में एमए, एमकॉम, एमएससी आदि में  मास्टर की डिग्री आप प्राप्त कर सकते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएशन को रेगुलर और प्राइवेट दो प्रकार से किया जा सकता है । इसके लिए आपको सही एक विषय का चयन करने के आधार पर ही आपको एडमिशन मिलता है।

यह जरूरी भी नहीं होता कि आप ग्रेजुएशन के तुरंत बाद ही Post Graduation करें। हा आप थोड़ा टाइम रुक कर भी पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं। वैसे रेगुलर मोड के लिए यूनिवर्सिटी के द्वारा विद्यार्थियों की एक उम्र की सीमा भी निर्धारित की गई है । उसी के आधार पर आप रेगुलर पढ़ सकते हैं नहीं तो आपको प्राइवेट ही पोस्ट ग्रेजुएशन करना होगा।

PG कोर्स क्या है

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के तो बहुत ऑप्शन होते है। लेकिन कुछ ऐसे ही पीजी कोर्स है जिनको किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन करने के बाद में आप कर सकते हैं

  • M.A
  • M.com
  • M.sc.
  • M.d
  • M.s
  • M.tech
  • MBA
  • MCA
  • MSW
  • M.ed

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के फायदे

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बहुत फायदे होते हैं…

  • पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद आपकी नॉलेज बहुत बढ़ती है।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन में आपको कैरियर में बहुत ऑप्शन मिल जाते हैं।
  • इसके अलावा समाज में भी बहुत सम्मान मिलता है।
  • आजकल अक्सर देखा गया है कि ग्रेजुएशन करने के बाद में सभी लोग अपने कामकाज में लग जाते हैं। लेकिन जो पोस्ट ग्रेजुएशन करते हैं उनको बहुत ही अहमियत दी जाती है।
  • साथ ही पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद आपको अपनी नौकरी में प्रमोशन में preference मिलता है।

क्या होता है पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स 1 डिग्री होती है। जो ग्रेजुएशन के बाद ली जाती है।

पोस्ट ग्रेजुएशन को हिंदी में स्नातकोत्तर भी कहा जाता है और यह कोर्स 2 साल का होता है।

पोस्ट ग्रेजुएशन को करने के लिए मिनिमम क्वालीफिकेशन ग्रेजुएशन होना जरूरी होता है।

अगर आप किसी कॉलेज में एक साथ पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे हो तो कोर्स पूरा आप का 5 साल का होगा।

हमारे देश में बहुत ही यूनिवर्सिटी इंटीग्रेटेड पोस्ट ग्रेजुएशन भी करवाती है।

पोस्ट ग्रेजुएशन को करने के बाद में आगे की पढ़ाई, जॉब, कंपटीशन वाले एग्जाम की तैयारी भी आप कर सकते हो।

Leave a Comment