आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना -Aatma Nirbhar Bharat Bojgar Yojana

जाने इस पोस्ट में क्या क्या है

हमारे देश में सभी युवा वर्ग के लोगों को रोजगार के अवसर देने के लिए हमारी केंद्र सरकार के द्वारा आत्मनिर्भर योजना को प्रारंभ किया गया था। इस योजना का मकसद निश्चित रूप से देश की अर्थव्यवस्था तथा युवाओं को रोजगार देने के लिए विशेष है तथा सुधार के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका भी निभा रही है। हमारे प्रधानमंत्री जी के द्वारा 2019 में भी रोजगार प्रोत्साहन योजना को आरंभ किया था, क्योंकि हमारे देश में इन योजनाओं का मकसद है कि कोई भी बेरोजगार ना रहे सभी व्यक्तियों को रोजगार के अच्छे अवसर प्रदान किए जाएं। हमारे देश के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के द्वारा देश के सभी युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्रदान करने के लिए और देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस योजना को आरंभ किया गया आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना(Aatma Nirbhar Bharat Bojgar Yojana) की शुरुआत 30 जून 2021 तक होगी केंद्र सरकार के द्वारा वर्ष 2019 में प्रधान मंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना को भी शुरू किया गया था आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के बारे में जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं..

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना क्या है

आत्मनिर्भर भारत योजना के द्वारा हमारे देश में सभी बेरोजगार लाभार्थियों को रोजगार देने के लिए बहुत से काम किए जाएंगे और जो ग्रामीण क्षेत्र और शहरी क्षेत्र के कर्मचारी हैं।उनको भी रोजगार नए अवसर देने के लिए प्रधानमंत्री ने इस आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को प्रारंभ किया। इस योजना को 12 नवंबर 2020 में वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण के द्वारा देश के युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्रदान करने के लिए तथा आतंकवाद भारत रोजगार योजना को सशक्त बनाने के लिए निश्चित रूप से शुरू किया गया केंद्र सरकार के द्वारा इस तरह से समय-समय पर देश के बेरोजगार व्यक्तियों के लिए रोजगार के नए अवसर प्रदान करने के लिए नई नई योजनाएं सरकार के द्वारा लागू की जाती हैं ताकि देश में बेरोजगारी कम हो और लोगों को नए नए रोजगार के अवसर प्राप्त हो सके।

Aatma Nirbhar bharat rozgar yojna 2021

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतर्गत सभी लाभार्थियों को रोजगार के नए अवसर और बहुत से नए नए कार्य भी सरकार के द्वारा दिए जाएंगे संगठित क्षेत्र के सभी कर्मचारियों को रोजगार देने के लिए प्रधानमंत्री जी के द्वारा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना(Aatma Nirbhar Bharat Bojgar Yojana) का शुभारंभ किया गया अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको जरूरी कागजात योग्यता और सभी चीजों के लिए आपको इसकी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर देखना होगा तथा उसके बाद ही आप इसके लिए आवेदन कर सकते है।

2022 तक संपूर्ण देश को आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का लाभ

इस योजना को हमारे देश के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री जी के सहयोग से लागू किया। पहले यह योजना जून 2021 थी, लेकिन अब इस योजना की तिथि को बढ़ाकर मार्च 2022 तक कर दी है। यानी यह योजना 2022 तक पूर्ण रूप से काम करेगी इस योजना के अंतर्गत भारत में रोजगार साधन उपलब्ध करवाए जाएंगे। जो भी बेरोजगार और कर्मचारी वर्ग के लोग हैं,उनके लिए इस योजना से बहुत लाभ प्राप्त होंगे।

देश में 21 लाख कर्मचारियों को मिले नए रोजगार के अवसर

भारत सरकार के द्वारा लागू की गई आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (Aatma Nirbhar Bharat Bojgar Yojana) के द्वारा अब तक 22810 करोड रुपए इस योजना में खर्च हो चुके हैं। इस योजना के द्वारा 21 लाख नए कर्मचारियों को रोजगार के अवसर प्रदान किये गए है, क्योंकि इस योजना का लाभ केवल वही कर्मचारी ले सकते हैं , जिनकी तनख्वाह 15 हजार या उससे कम हो या फिर 1 अक्टूबर 2020 से पहले किसी ऐसी कंपनी में काम किया हो जो कि ई पी एफ ओ के साथ रजिस्टर्ड हो।

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजी रोजगार योजना की पंजीकरण तिथि का विस्तार

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना को देश में बढ़ रही अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू किया गया है। इस योजना के माध्यम से नियोक्ताओं के रोजगार को अर्जित करने के लिए भी प्रोत्साहित किया जा रहा है या योजना आत्मनिर्भर भारत 3.0 पैकेज के अंतर्गत लागू की गई है आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतर्गत जो पंजीकरण की तिथि निर्धारित की थी पहले 30 जून 2021 तक व्यक्ति आवेदन कर सकते थे लेकिन अब इस को बढ़ाकर 31 मार्च 2022 तक कर दिया गया है इसीलिए जो भी इच्छुक अभ्यर्थी है वह ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।EPF और MP अधिनियम 1952 के अंतर्गत पंजीकृत होने वाले नए कर्मचारी और प्रतिष्ठान वाले सभी 31 मार्च 2022 तक पंजीकरण कर सकते हैं।

30 मार्च 2022 तक इस योजना के मिलने वाले लाभ

हमारे देश की वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण जी के द्वारा 28 जून 2021 को आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (Aatma Nirbhar Bharat Bojgar Yojana) कि पंजीकरण तिथि को 30 मार्च 2022 तक बढ़ा दिया गया है।इस योजना को एक अक्टूबर 2020 से 30 जून 2021 तक के लिए शुरू किया गया था, लेकिन अब यह योजना की तिथि को बढ़ाकर 30 मार्च 2022 कर दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने की अंतिम तिथि 30 जुलाई 2021 थी। आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के माध्यम से रोजगार सृजित करने वालों को प्रोत्साहित किया जाएगा। यदि किसी भी संस्था में 1000 से अधिक कर्मचारी हैं तो वहां पर सरकार के द्वारा केवल कर्मचारी कॉन्ट्रिब्यूशन में ही जमा किया जाएगा। इस योजना का लाभ 2 साल के लिए उन सभी कर्मचारियों को दिया जाएगा। जिनकी मासिक आय 15000 या फिर उससे भी कम की है। सरकार के द्वारा इस योजना के संचालन के लिए कुल लागत 22810 करोड रुपए थी निर्धारित की गई है। अब तक 58. 50 लाख लाभार्थियों को इस योजना के द्वारा लाभ पहुंचाया जा चुका है। 18 जून 2021 तक 902 करोड रुपए की राशि 79577 संस्थानों के लिए 21.42 लाख लाभार्थियों को पहुंचाने के लिए खर्च हो चुकी है।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का सही रूप से सर्वेक्षण

भारत सरकार के द्वारा इससे योजना के लिए सरकार ने सर्वेक्षण की प्रक्रिया को भी चलाया। इस प्रक्रिया के माध्यम से जो डाटा कलेक्ट किया जाएगा , उसके हिसाब से ही इस योजना को बनाई जाएगी । इसके लिए एक विभाग नियुक्त किया है। उस श्रम विभाग के द्वारा पांच प्रकार के सर्वेक्षण किए जाएंगे जो कि निम्न है-

  • ऑल इंडिया सर्वे ऑन माइग्रेंट वर्कर्स 
  • ऑल इंडिया सर्वे ऑन डोमेस्टिक वर्कर्स 
  • इंप्लॉयमेंट जेनरेटेड बाय प्रोफेशनल
  • इंप्लॉयमेंट जेनरेटेड इन ट्रांसपोर्ट सेक्टर
  • ऑल इंडिया क्वार्टरली इस्टैब्लिशमेंट बेस्ड एम्प्लॉयलेंट सर्वे

इन सर्वेक्षणों के माध्यम से सरकार यह भी सुनिश्चित करेगी कि इन योजनाओं को संचालित करने के बाद क्या यह योजनाएं सही ढंग से काम कर रही है या फिर नहीं कर रही इसीलिए इस सर्वेक्षण के प्रक्रिया को इसमें शामिल किया गया है।

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के द्वारा मिलने वाले लाभ

केंद्र सरकार के द्वारा जारी की गई प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (Aatma Nirbhar Bharat Bojgar Yojana) के अंतर्गत आने वाले 2 साल तक इस योजना का लाभ प्राप्त हो सकेगा आइए जानते हैं सरकार के द्वारा किस तरह से प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतर्गत लाभ दिए जाएंगे

  • जिन संस्थानों में कर्मचारियों की क्षमता 1000 से कम की है उन सभी संस्थानों में कर्मचारियों के वेतन के अनुसार उनके हिस्से का 12% और काम देने वाली संस्था के हिस्से का 12% जो कि कुल 24% होता है केंद्र सरकार के द्वारा भविष्य निधि ई पी एफ ओ के अंतर्गत यह राशि जमा करवाई जाएगी।
  • इसी तरह से जिन संस्थाओं के कर्मचारी की क्षमता 1000 से अधिक की है उन सभी संस्थाओं में काम करने वाले सभी कर्मचारियों के वेतन में से 12% केंद्र सरकार के द्वारा भविष्य निधि मैं देना होगा।
  • इस योगदान को केंद्र सरकार के द्वारा सभी कर्मचारियों के लिए 2 साल तक प्रदान किया जाएगा।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के लिए जरूरी पात्रता व दस्तावेज

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के अंतर्गत लगने वाले जरूरी कागजात और पात्रता निम्न है..

  • कर्मचारियों का ईपीएफओ के अंतर्गत पंजीकरण।
  • आधार कार्ड
  • कर्मचारी का वेतन ₹15000 प्रतिमाह तक

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के ऑनलाइन आवेदन के लिए

हमारी सरकार के द्वारा चलाई इस योजना से जुड़ने के लिए जो भी कर्मचारी या संस्थान से लाभार्थी है, वह इस योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना को आप ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको भविष्य निधि ईपीएफओ के अंतर्गत आपको अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसमें आवेदन करने के लिए employer-employee के लिए अलग-अलग पेज पर आवेदन करना होगा। उसके बाद आप ऑनलाइन आवेदन के लिए घर बैठे या फिर किसी साइबर कैफे में या अपने लैपटॉप से भी इसके लिए ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। जो भी इसमें जरूरी इंफॉर्मेशन है,उसको भरकर आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

 योजना की जानकारी के लिए कांटेक्ट नंबर

अगर आप किसी योजना से संबंधित किसी भी प्रकार की कोई भी जानकारी जानना चाहते हैं इससे जुड़ी हुई किसी समस्या का समाधान कर रहे हैं या जिसके बारे में आपको कुछ समझ नहीं आ रहा है तो आप एक हेल्पलाइन नंबर है उस पर संपर्क करके इस योजना से जुड़ी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते है।

 हेल्पलाइन नंबर

 1800118005 

Leave a Reply

Your email address will not be published.